Punjab Result: जन्मदिन पर कैप्टन अमरिंदर की जीत का जश्न

93

Punjab Result: जन्मदिन पर कैप्टन अमरिंदर की जीत का जश्न

loading...

पंजाब में मतगणना के बाद 117 विधानसभा सीटों की स्थिति साफ हो गई है. कांग्रेस पार्टी को 75 सीटों पर जीत हासिल हुई है. जबकि अकाली-बीजेपी गठबंधन महज 18 सीटों पर सिमट चुका है. दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी अबतक 20 सीटें जीतने में कामयाब रही है. पंजाब के नतीजों से साफ है कि इस बार जनता ने अकाली-बीजेपी गठबंधन को करारी शिकस्त दी है.

पंजाब के नतीजे कैप्टन अमरिंदर सिंह के लिए दोहरी जीत लेकर आए हैं. कैप्टन आज अपना 75वां जन्मदिन मना रहे हैं और राज्य में उनकी पार्टी को बड़ी जीत मिली है. कांग्रेस पार्टी की जीत पर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब की जनता ने भ्रष्टाचार और लूट की सरकार को नकारते हुए कांग्रेस पार्टी को बहुमत दिया है. उन्होंने कहा कि जैसा कि उन्होंने  से वादा किया था उसे पूरा किया है. सिद्धू ने कहा कि ये कांग्रेस के उभार का दौर है.

 

पांच राज्यों के चुनावी नतीजों में कांग्रेस के लिए पंजाब से ही खुशखबरी आई है. यूपी में बीजेपी की आंधी के आगे सपा-कांग्रेस गठबंधन की हवा निकल गई है. लेकिन पंजाब में कांग्रेस के लिए जश्न मनाने का मौका जरूर है. पार्टी के तमाम कार्यकर्ता कैप्टन अमरिंदर के घर के बाहर जमा होकर जश्न मना रहे हैं. कैप्टन के घर की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है.

AAP के मान ही हार गए
दिल्ली से पंजाब की ओर रुख मोड़ने वाले अरविंद केजरीवाल को पंजाब से निराशा हाथ लगी है. पंजाब में पार्टी का सबसे बड़ा चेहरा भगवंत मान भी चुनाव हार गए हैं. मान को जलालाबाद सीट से पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल से शिकस्त मिली है. AAP पंजाब के मालवा इलाके में ही संगठन को मजबूती दे पाई और इसी इलाके के भरोसे वो राज्य की सत्ता काबिज होने का सपना देख रही थी.  दोआबा और माझा में पिछड़ी AAP के मालवा से भी उम्मीद के मुताबिक नतीजे नहीं मिल सके.

अकाली पस्त, कांग्रेस मस्त
पंजाब में 4 फरवरी को एक ही चरण में मतदान हुआ था और 75 फीसदी वोटिंग हुई थी. पंजाब में शिरोमणि अकाली दल और बीजेपी गठबंधन को करारी शिकस्त मिली है. कांग्रेस  और AAP ने अकाली-बीजेपी सरकार के खिलाफ जोर-शोर से प्रचार किया था. सत्ताविरोधी लहर का सामना करने उतरी बादल सरकार पर भ्रष्टाचार के भी आरोप थे. ऐसे में पार्टी की स्थिति पहली बार राज्य में चुनाव लड़ रही AAP से भी कमजोर रही है. एग्जिट पोल में भी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को अकाली-बीजेपी गठबंधन से मजबूत दिखाया गया था.

Aaj Tak के एग्जिट पोल पर मुहर
इंडिया टुडे-एक्सिस के एग्जिट पोल के नतीजों में कांग्रेस को 62 से 71 सीटों पर जीतने का अनुमान लगाया गया था, जबकि ‘आप’ को 42 से 51 सीटें दी गई थीं. इंडिया टीवी और सी वोटर के एग्जिट पोल ने कांग्रेस को 41-49 और ‘आप’ को 59 से 67 सीटों पर जीतते हुए दिखाया था. इंडिया न्यूज-एमआरसी और न्यूज 24-चाणक्य ने कांग्रेस को 55 और ‘आप’ को 54 सीटें मिलने का पूर्वानुमान लगाया था. इन सभी एग्जिट पोलों में अकाली दल-बीजेपी गठबंधन को 10 सीटें भी मुश्किल से दी गई थीं.

पिछले चुनाव का नतीजा
पंजाब में 4 फरवरी को एक चरण में ही मतदान हुआ था. राज्य में कुल 78.6 फीसदी वोट पड़े. अगर 2012 के विधानसभा चुनाव की बात करें तो पिछले चुनाव में बीजेपी-अकाली गठबंधन को 68 सीटें मिली थीं जबकि कांग्रेस पार्टी ने 46 सीटों पर जीत दर्ज की थी. हालांकि वोट शेयर के मामले में कांग्रेस पार्टी अकाली दल पर हावी रही थी. कांग्रेस को पिछले चुनाव में 40 फीसदी वोट मिले थे जबकि अकाली दल को 34.75 फीसदी वोट ही मिले थे. चुनाव में बीजेपी को 7.18 फीसदी वोट मिले थे. आम आदमी पार्टी पंजाब में पहली बार चुनाव लड़ रही है.

loading...