नॉर्थ कोरिया कर रहा है EMP स्ट्राइक से अमेरिका को तबाह करने की तैयारी

53

नॉर्थ कोरिया कर रहा है EMP स्ट्राइक से अमेरिका को तबाह करने की तैयारी

loading...

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए की ओर से उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की हत्या की कोशिश किए जाने के बाद से तनाव बेहद गहरा गया है. जो उत्तर कोरिया अभी तक बचाव की मुद्रा में था, अब वह अमेरिका पर हमला करने की ही तैयारी में है. हालांकि वह यह हमला जमीन से नहीं, बल्कि अंतरिक्ष से करेगा.

अमेरिकी विशेषज्ञों ने चिंता जाहिर की है कि उत्तर कोरिया अमेरिका पर इलेक्ट्रॉनिक पल्स हथियार (EMP स्ट्राइक) से हमला कर सकता है. इसके लिए वह पूरी तैयारी कर रहा है. उत्तर कोरिया के दो सैटेलाइट अंतरिक्ष से अमेरिका पर पूरी तरह से निगाह रखे हुए हैं, जिनको उसने साल 2012 और 2016 में लांच किया था.

उत्तर कोरिया के KMS 3-2 and KMS-4 नामक सैटेलाइट महज 94 मिनट में पृथ्वी का चक्कर लगा लेते हैं. उत्तर कोरिया गुपचुप तरीके से अंतरिक्ष में हाई एल्टीट्यूड परमाणु हथियारों से विस्फोट करके अमेरिका पर साइबर हमला कर सकता है. इसके लिए वह अपनी क्षमता को तेजी से बढ़ा रहा है. CIA की ओर से तानाशाह की हत्या करने की कोशिश किए जाने के बाद से उत्तर कोरिया बौखलाया हुआ है. वह अमेरिका पर जवाबी कार्रवाई करने की धमकी भी दे चुका है. अगर अमेरिका ने उसको हल्के में लेने की कोशिश की, तो उसको बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

साइबर हमले से तबाह हो जाएगा अमेरिका

अमेरिका पूरी तरह से साइबर पर टिका हुआ है. अमेरिका की होमलैंड सिक्युरिटी और नेशनल EMP टास्क फोर्स के कार्यकारी निदेशक डॉक्टर पीटर विनसेंट प्राई ने चेताया कि उत्तर कोरिया अपने सैटेलाइट को न्यूक्लियर मिसाइल में तब्दील करने की कोशिश में है. खास बात यह है कि उत्तर कोरिया के सैटेलाइट अमेरिका आसमान में घूम रहे हैं. कांग्रेसनल EMP कमीशन के प्रमुख प्राई ने कहा कि अगर अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर हमला करने की कोशिश की, तो तानाशाह किम जोंग उन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए मुश्किल पैदा कर सकते हैं. उत्तर कोरियाई तानाशाह अमेरिकी संचार उपकरणों को खत्म कर सकता है. वह अमेरिका को उत्तर कोरिया पर हमला करने से पीछे हटने को भी मजबूर कर सकते हैं.

अमेरिका को दे चुका है धमकी

उत्तर कोरिया पहले भी अमेरिका को तबाह करने की धमकी दे चुका है. वह साफ लहजे में चेता चुका है कि अगर अमेरिका ने उसे उकसाने की कोशिश की, तो वह उस पर परमाणु हमला कर सकता है. प्राई ने यह भी आशंका जताई कि उत्तर कोरिया की ओर से हाल ही में किए गए मिसाइल परीक्षण EMP स्ट्राइक क्षमता बढ़ाने के लिए किया है. डेली मेल ने बताया कि उत्तर कोरिया के पास अमेरिका तक हमला करने वाली मिसाइले हैं. वह खुले तौर पर इसका ऐलान भी कर चुका है.

क्या है EMP हमला

EMP स्ट्राइक यानी इलेक्ट्रोमैगनेटिक पल्स वैपन हमला दुश्मन के संचार उपकरणों को तबाह करने के लिए किया जाता है. अगर उत्तर कोरिया अमेरिका पर साइबर हमला करता है, तो उसका इलेक्ट्रॉनिक ग्रिड खत्म हो जाएगा. आज अमेरिका पूरी तरह से साइबर तकनीकी पर निर्भर है. उत्तर कोरिया के इस कदम ने अमेरिका की चिंता बढ़ा दी है.

 

loading...