राजस्थान में बाबा ने क्या नाबालिग को अगवाह

19

बाबा की तरफ से एक नाबालिग को किडनैप किए जाने की यह घटना राजस्थान के जालौर जिले की है। पुलिस के मुताबिक, लड़की बरामद कर ली गई और उसे जोधपुर हाईकोर्ट में पश किया गया। कोर्ट में पीड़ित परिवार की तरफ से दायर याचिका (हेबियस कॉर्पस पेटिशन) पर सुनवाई के बाद उस लड़की को उसके परिवारवालों को सौंप दिया गया।
हेबियस कॉर्पस पेटिशन वह याचिका है जिसमें यह सुनिश्चित करना होता है कि गिरफ्तार व्यक्ति को कोर्ट में पेश किया जाए, जहां पर यह तय होता है कि क्या उसकी कैद कानूनी तौर पर सही है।
अभियुक्त बाबा मोहनराम उर्फ मोहन भगत के ऊपर आरोप है कि उसने 26 मई को बारमेड़ के सेवदा गांव की रहनेवाली एक 17 वर्षीय युवती को किडनैप कर लिया। जिसके बाद लड़की के परिवारवालों ने पुलिस में शिकायत की। बारमेड़ के एसपी गगनदीप सिंगला ने बताया कि आरोबी बाबा को बुधवार को जालौर जिले के चितलवन गांव से गिरफ्तार किया गया है।

आरोपी बाबा तंत्र-मंत्र का काम करता था और प्राय: लड़की के घर यह कहकर जाता था कि कुछ अशांत तत्वों से वह राहत पहुंचाएगा। उसके बाद ऐसा आरोप है कि वह बाबा लड़की के साथ भाग गया। शुरूआती जांच में लड़की ने कहा कि वह अपनी इच्छा से बाबा के साथ गई थी लेकिन जब कोर्ट में पेश किया गया तो वह अपने माता-पिता के इच्छानुसार बयान दिया।