यूपी में चलती ट्रेन में दलित महिला से गैंगरेप: बदमाशों ने नीचे फेंका, पैर कटा

250

यूपी में चलती ट्रेन में दलित महिला से गैंगरेप: बदमाशों ने नीचे फेंका, पैर कटा

मऊ (यूपी). यहां चलती ट्रेन में एक दलित महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है। विक्टिम का आरोप है कि बदमाशों ने उसके साथ गैंगरेप करने बाद चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। इसके चलते उसका दाहिना पैर कट गया। महिला को गंभीर हालत में जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। आरोपी फरार हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।ससुराल जा रही थी महिला…
 
– घटना मऊ जिले के काझा खुर्द रेलवे लाइन के पास की है।
– लोगों के मुताबिक, महिला ने बताया कि वह शनिवार देर शाम अपने मायके औंणीहार से तमसा 55136 पैसेंजर ट्रेन से जौनपुर अपने ससुराल जा रही थी।
– इसी दौरान ट्रेन में दो लोगों ने उसे दबोच लिया और गैंगरेप करने के बाद चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। इसके बाद वह बेहोश हो गई।
– काफी देर बाद उसे होश आया तो देखा कि पैर कटा हुआ है।
 
क्‍या कहना है गांववालों का?
– घटना की सूचना पुलिस को देने वाले ग्रामीण कैलाश यादव ने बताया कि वो सुबह खेत जा रहे थे। जैसे ही काझा खुर्द रेलवे लाइन के पास पहुंचे, उन्‍हें महिला के चीखने की आवाज सुनाई दी।
– कैलाश जब मौके पर पहुंचे तो महिला नग्‍न हालत में थी और तड़प रही थी। इसके बाद उन्‍होंने गांव से साड़ी मंगाकर उसे पहनवाई।
– फिर 108 एम्‍बुलेंस को फोन कर अस्‍पताल में भर्ती करा दिया।
 
क्‍या कहना हैं डॉक्‍टर?
– महिला का इलाज कर रहे डॉ. रूपेश राय ने बताया कि कुछ ग्रामीणों ने महिला को 108 एम्‍बुलेंस से अस्‍पताल पहुंचाया। उसका दाहिना पैर कटा है।
– गांव के लोगों के मुताबिक, महिला दलित है। गंभीर हालत देखते हुए उसे बनारस के जिला हॉस्पिटल रैफर कर दिया गया है।
 
मेडिकल जांच के बाद मामला होगा साफ
– एसओ जीआरपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि महिला के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। उसके साथ गैंगरेप हुआ है या नहीं, ये मेडिकल जांच के बाद ही पता चल पाएगा। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।