सिर्फ स्ट्रेस ही नहीं बल्कि ये कारण भी हो सकते है नीद ख़राब होने के

292

क्या आपकी रात को नींद डिस्टर्ब होती है? क्या आप रात को सो नहीं पाते? अगर हां, तो इसके पीछे का कारण हो सकता है एयर पॉल्यूशन. जी हां, आप भी पढ़कर हैरान रह जाएंगे.

अब तक ऐसा माना जाता था कि नींद डिस्टर्ब होने का मुख्य कारण स्ट्रेस है लेकिन ऐसा नहीं है. एयर पॉल्यूशन के कारण भी नींद डिस्टर्ब होती है. हाल ही में आई एक रिसर्च कुछ ऐसा ही कहती है.

क्या कहती है रिसर्च-
रिसर्च के मुताबिक, एयर पॉल्यूशन का संबंध कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स से है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के मुताबिक, अगर पॉल्यूशन लेवल कम कर दिया जाए तो स्ट्रोक, हार्ट डिजीज़, लंग कैंसर, क्रोनिक एंड एक्यूट रेस्पिरेटरी डिजीज़ यहां तक कि अस्थमा को भी कम किया जा सकता है.

वहीं शोधकर्ताओं ने भी एयर पॉल्यूशन को नींद से लिंक किया है. शोधकर्ताओं के मुताबिक, नाइट्रोजन डाईऑक्साइड के संपर्क में अधिक रहने और पीएम लेवल 2.5 रहने से आपकी नींद खराब हो सकती है.

रिसर्च बताती है कि ट्रैफिक से होने वाला एयर पॉल्यूशन नाइट्रोजन डाईऑक्सानइड (NO2) के नाम से जाना जाता है. जो कि कम नींद आने का कारण है. इसकी वजह से नींद जल्दी खुल जाती है और रात में देर से आती है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट-
वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर मार्थ ई. बिलिंग्स का कहना है कि रिसर्च इस ओर भी संकेत करती है कि ये भी संभव है कि एयर पॉल्यूशन का हाई लेवल सिर्फ हार्ट और लंग्स को ही इफेक्ट नहीं करता लेकिन ये स्लीपिंग क्वालिटी को भी इफेक्ट करता है.

एयर पॉल्यूशन की वजह से नाक के ऊपरी हिस्से में इरिटेशन, स्वैलिंग और कंजेशन होता है. साथ ही सेंट्रल नर्वस सिस्टम, ब्रेन एरिया जो कि ब्रीथ और स्लीप कंट्रोल करता है, इफेक्ट होते हैं.