कैलिफोर्निया में यू-ट्यूब मुख्यालय में गोलीबारी, 4 घायल, महिला शूटर की मौत

64

अमेरिका में एक और शूटिंग की वारदात से लोग दहल गए हैं. कैलिफोर्निया स्थित यू-ट्यूब मुख्यालय में एक महिला बंदूकधारी ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें कम से कम चार लोग घायल हो गए. इसके बाद महिला शूटर ने खुद को भी गोली मार ली.

सैन ब्रूनो पुलिस चीफ एड बारबेरिनी ने बताया कि यू-ट्यूब मुख्यालय में गोलीबारी करने वाली महिला बंदूकधारी बिल्डिंग के अंदर मृत पाई गई. उन्होंने कहा कि महिला बंदूकधारी ने फायरिंग के बाद गोली मारकर खुदकुशी कर ली. घटनास्थल पर भगदड़ सी मच गई. घबराए हुए लोगों को सुरक्षाबलों ने तुरंत इमारत से बाहर निकाला. शूटिंग की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर एंबुलेंस पहुंच गई थीं और पुलिस ने लोगों को इलाके से दूर रहने को कहा. इसके बाद यू-ट्यूब ऑफिस को भी बंद कर दिया गया और लोगों को बाहर निकाला गया.

एक घायल की हालत गंभीर

इस हमले में घायल हुए चार लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है. घायलों में से एक की हालत गंभीर बताई जा रही है. अधिकारियों का कहना है कि गोलीबारी में घायल चार लोगों में से एक को महिला बंदूकधारी जानती थी. स्थानीय मीडिया के मुताबिक घायल युवक को संदिग्ध हमलावर महिला शूटर का प्रेमी बताया जा रहा है. गोलीबारी में घायल दो महिलाओं में से एक की हालत गंभीर बनी हुई है, जबकि दूसरे की स्थिति में सुधार हो रहा है.

हमले का टेरर एंगल नहीं

फिलहाल इस गोलीबारी की वजह साफ नहीं हो पाई है, लेकिन सुरक्षा एजेंसियां घरेलू विवाद मानकर इसकी जांच कर रही हैं. जांच के बाद ही गोलीबारी की वजह साफ हो पाएगी. वहीं, गूगल के CEO सुंदर पिचई ने यू-ट्यूब मुख्यालय में हुई गोलीबारी की घटना को दुखद बताया है. उन्होंने बयान जारी कर कहा, ”यू-ट्यूब मुख्यालय में गोलीबारी की दुखद घटना को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है. यू-ट्यूब की सीईओ सुसान वोजिकी और मैं इस मुश्किल घड़ी में कर्मचारियों और यू-ट्यूब कम्युनिटी को सपोर्ट करने पर फोकस कर रहे हैं.”

उन्होंने पुलिस का शुक्रिया अदा किया. साथ ही भारतवंशी सीईओ पिचाई ने कहा कि अब हर किसी को सुसान और यू-ट्यूब टीम के समर्थन में आना चाहिए. उन्होंने अपने बयान में कहा कि जब कर्मचारी लंच कर रहे थे, तभी गोलीबारी हुई. सुरक्षाकर्मियों ने फौरन कर्मचारियों को बिल्डिंग से बाहर निकाला. साथ ही प्रत्येक की सुरक्षा को प्राथमिकता दी. इस मामले की सूचना अमेरिकी सुरक्षाकर्मियों ने राष्ट्रपति ट्रंप को दी है.